लोगो के रोजगार ठप्प कर सरकार अपना रोजगार चला रही – हुलास साहू, आम आदमी पार्टी पूर्व सचिव।

लोगो के रोजगार ठप्प कर सरकार अपना रोजगार चला रही – हुलास साहू, आम आदमी पार्टी पूर्व सचिव।

धरसींवा:-
एक तरफ सरकार सारे प्रदेश कोरोना के चपेट के चलते को लॉकडाउन में चल रहा, सुबह 10 बजे के बाद सारे दुकान बंद हो जाते, सड़कों पर इक्का दुक्का व्यक्ति ही दिखते, क्यों सरकार ने लोकडाउन लगाया है, धारा144 लगा हुआ, जिसका हमें सख्ती से पालन करना है

वहीं रायपुर के सिलतरा और मंदिर हसौद में देशी शराब की दुकान खुली है, और भीड़ इतनी की, जैसा मेला लगा हुआ है, क्या सरकार शहरों को लॉक कर शराबभट्टी में मेला लगा रही, क्या सरकार जनता को बेवकूफ समझ रही, जहाँ शहरों में कराना दुकाने , कपड़ा, चाट पकौड़े, छोटे छोटे व्यवसाय से जीवन यापन करने वाले व्यक्तियों के लिए लाकडाउन लगा दिया, दुकानों को बंद कर, लोगो के रोजगार सत्यानाश कर खुद अपना रोजगार चला रही है, सबको 144 के अंतर्गत जेल क्यो भेजती है??

भूपेश सरकार अति महत्वपूर्ण पेय वस्तु शराब ग्रामीणों क्षेत्रो में दारुभट्ठी खोल कर कांग्रेस सरकार अपनी व्यापार चला रही है शहर के शराब दुकान बंद है शहर के मदिरा प्रेमी ग्रामीण के शराबबभट्ठी में आ रहे है जिसके चलते शराबभट्ठी में भारी भरकम भीड़ उमड़ रही हूं जहां पर कोई प्रकार की शोसल डिस्टेंडिंग का कोई पालन नही, ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना महामारी फैलने डर अब गाँवो ज्यादा है कांग्रेस के भूपेश सरकार अपना व्यपार चला रही है सरकार का कहना है लोगो को व्यपार की क्या जरुरत है लोग शराब पिये चाहे घर की अर्थव्यवस्था बिगड़ जाए पर लोग 2 बोतल दारू जरूर खरीदे और छत्तीसगढ़ के भूपेश सरकार अर्थव्यवस्था मजबूत करे कहना है

छत्तीसगढ़ में सरकार बदली है पार्टी बदली है मुख्यमंत्री बदली है लेकिन बेवस्था, नियत और नीति वही के नही है रमन सरकार के नक्से कदम पर चल रही है कांग्रेस के भूपेश सरकार और सरकार का कथनी करनी भारी अंतर है पूर्ण शराबबंदी के वादा करके सरकार कहना है पियेगा छत्तीसगढ़ तभी बढेगा छत्तीसगढ़, कांगेस सरकार नियत साफ झलक रही है कोरोना से मरो या कर्ज के बोझ तले मरो भूपेश सरकार ने आम आदमी को मरने के लिए अपने हाल पर शराब दुकान चालू करके छोड़ दिया है

लाइव कैलेंडर

December 2020
M T W T F S S
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031  

LIVE FM सुनें

You may have missed